Category: Desh Bhakti Shayari

Desh Bhakti Shayari, Republic Day Shayari, Independence Day Shayari, 26 January Shayari, 15 August Shayari, 26 जनवरी शायरी. 15अगस्त शायरी, आजादी की शायरी


झंडा लहराना है,वांदे मातरम के गीत गाना है!
सुन कर देश को ललकारना है,
आओ मिलकर अब स्वप्न देखा जो साकार करना है!


Desh Bhakti Shayari

आओ देश का सम्मान करे
शहीदो की शहादत याद करे
एक बार फिर से राष्ट्रा की कमान..
हम हिन्दुस्तानी अपने हाथ धरे..
आओ.. गन्तन्त्र दिवस का मान करे


Republic Day Shayari

वतन हमारा मिसाल मोहबत की,
तोड़ता है दीवार नफ़रत की,मेरी खुश नसीबी,
मिली ज़िंदगी इस चमन में भुला ना
सके कोई इसकी ख़ुश्बू सातों जनम में.


Independence Day Shayari

दे सलामी इस तिरंगे को जिससे तेरी शान है
सर हमेशा उँचा रखना इसका जब तक दिल मे जान है


26 January Shayari

वतन हमारा ऐसा कोई ना छोर पाए,
रिश्ता हमारा ऐसा कोई ना तोड़ पाए,
दिल एक है एक जान है हमारी,
हिन्दुस्तान हमारा है हम इसकी शान हैं.


15 August Shayari

आज़ादी का जोश कभी कम ना होने देंगे,
जब भी ज़रूरत पड़ेगी देश के लिए जान लूटा देंगे.
क्योंकि भारत हमारा देश है अब दोबारा इस पर कोई आँच ना आने देंगे.


26 जनवरी शायरी

आओ झुक कर सलाम करे उनको,
जिनके हिस्से मे ये मुकाम आता है,
ख़ुसनसीब होता है वो खून जो देश के काम आता है,

आजादी की शायरी
गाँधी स्वप्ना जब सत्य बना,
देश तभी जब गणतंत्र बना,
आज फिर से याद करे वो मेहनत,
जो की थी वीरो ने, और भारत गणतंत्र बना.

Desh Bhakti Shayari Image

Desh Bhakti Shayari Image, 15 August Shayari Photo, 26 January Shayari Photo, Republic Day Shayari image, Independence Day Shayari image, 26 जनवरी फोटो

MAIN HUN BHARAT MAA TUMHAARI,
MAIN AAJ BHI RO RAHI HUN,
KYONKI IK MAA KI KOKH ME
BETI KE ROOP ME MAR RAHI HUN.

Desh Bhakti Shayari Image
Desh Bhakti Shayari Image

भारत माता तेरी गाथा,सबसे उँची तेरी शान,
तेरे आगे शीश झुकाए,दे तुझको हम सब सम्मान!

आज़ादी की कभी शाम ना होने देगे
शहीदो की कुर्बानी बदनाम ना होने देगे
बची है जो 1 बूँद भी लहू की तो
भारत मा का आँचल नीलम ना होने देगे

15 august shayari
15 august shayari

देश भक्तो की बलिदान से,स्वतंत्रा हुए है हम,
कोई पूछे कोन हो,तो गर्व से कहेंगे,भारतीय है हम,

दाग गुलामी का धोया है जान लुटा कर,
दीप जलाये है कितने दीप बुझा कर,
मिली है जब ये आज़ादी तो फिर से इस आज़ादी को,
रखना होगा हर दुश्मन से आज बचाकर.

26 january shayari Hindi
26 january shayari Hindi

आओ झुक के सलाम करें उनको,
जिनके हिस्से में ये मुकाम आता है,
खुशनसीब होता है वो खून,
जो देश के काम आता है.

कुछ नशा तिरंगे की आन है,
कुछ नशा मातृभूमि की शान का है,
हम लहराएँगे हर जगह ये तिरंगा,
नशा ये हिंदुस्तान की शान का है.

26 january shayari
26 january shayari

क्यों मरते हो यारो सनम के लिए,
ना देगी दुप्पटा कफ़न के लिए,
मरना है तो मारो वतन के लिए,
तिरंगा तो मिलेगा कफ़न के लिए,

ज़िन्दगी है कल्पनाओ की जंग,
कुछ तो करो इसके लिये दबंग,
जियो शान से भरो उमंग,
लहराओ सब के दिल में देश के लिए तरंग.

desh bhakti shayari in hindi
desh bhakti shayari in hindi

पंखो को फैलाये मोर तो बहोत देखे है,
आस्मां में छाये बादल भी बहुत बार देखे है,
शोर भी बारिश के 1000 देखे है,
जब से है तू मिला, मेरा चेहरा झट से खिला.

आजादी का जोश कभी काम न होने देंगे,
जब भी जरुरत पड़ेगी देश के लिए जान लूटा देंगे,
क्योंकि भारत हमारा देश है,
अब दोबारा इस पर कोई आंच न आने देंगे

Desh Bhakti Shayari
Desh Bhakti Shayari

वतन हमारा ऐसा कोई न छोड़ पाये,
रिश्ता हमारा ऐसा कोई न तोड़ पाये,
दिल एक है एक है जान हमारी,
हिंदुस्तान हमारा है हम इसकी शान है.

मन में सारी बातें छिपाये रखना,
अगर कुछ तुम्हे अच्छा ना लगे तो मन में दबाये रखना,
क्योंकि हम भारत के वासी है,
वक़्त पर हम दिखा देंगे ज़माने को,
की देश हम जैसे जवान को है बचाये रखना.

independence day shayari Hindi
independence day shayari Hindi

नहीं सिर्फ जशन मनाना,
नहीं सिर्फ जंडे लहराना,
ये काफी नहीं है वतन पर.
यादों को नहीं भुलाना,
जो कुर्बान हुए उनके लफ़्ज़ों को आगे बढ़ाना,
खुदा के लिए नहीं,
ज़िन्दगी वतन के लिए लुटाना.

चलो फिर से खुद को जागते है,
अनुशासन का डंडा फिर घुमाते है,
सुनहरा रंग है गणत्रंत्र का शहीदों के लहू से,
ऐसे शहीदों को हम सब सर झुकाते है.

independence day shayari
independence day shayari

खुशनसीब होते है वो लोग जो वतन पर मिट जाते है,
मर कर भी वो लोग सदा के लिए अमर हो जाते है,
करते है तुम्हे सलाम-ऐ-वतन पर मिटने वालो,
तुम्हारी हर एक साँस में बस्ता तिरंगे का नसीब है.

मैं इसका हनुमान हु,
ये देश मेरा राम है,
छाती चिर के देख लो,
अंदर बैठा हिंदुस्तान है,
जय हिन्द

republic day shayari Hindi
republic day shayari Hindi

तैरना है तो समंदर में तैरो,
नदी और नैहरो में क्या रखा है,
प्यार में मरना है तो वतन पे मरो,
वतन पे मरोगे तो नाम होगा,
किसी और के प्यार में मरोगे तो नाम बदनाम होगा।

Desh Bhakti Shayari Image

मैं हूँ भारत माँ तुम्हारी,मैं आज भी रो रही हूँ,
क्योंकि आज भी माँ की कोख में बेटी बनकर मर रही हूँ.

republic day shayari
republic day shayari

बलिदानों का सपना सच हुआ,
देश तभी आजाद हुआ,
आज सलाम करें उन वीरों को,
जिनकी शहादत से ये गणतन्त्र हुआ.

Pahchaan Meri Hai Yahi
Ki Main Hun hindustani,
Haar Kabhi Na Maine Maani
Kyonki Main hun Hindustani.

Desh Bhakti Shayari Image

पहचान मेरी है यही कि मैं हूँ हिन्दुस्तानी ,
हार कभी ना मैंने मानी,क्योंकि मैं हूँ हिन्दुस्तानी.

Main To Soya Tha Gahari Neend Main
Sarhad par Tha Jawan Jaga Raat Saari,
Ye Soch Kar Neend Meri Ud Gayi,
Jawan Kar Raha Raksha Hamari.

मैं तो सोया था गहरी नींद मैं
सरहद पर था जवान जगा रात सारी,
ये सोच कर नींद मेरी उड़ गयी
जवान कर रहा रक्षा हमारी.

Desh Bhakti Shayari Image