Category: Gareebi Shayari

Gareebi Shayari, गरीबी पर शायरी, Shayari On Gareebi, Gareebi Pe Shayari, Latest Garib Shayari Hindi, Shero Shayari On Gareeb, Amiri Garibi Shayari


मरहम लगा सको तो किसी गरीब के जख्मों पर लगा देना
हकीम बहुत हैं बाजार में अमीरों के इलाज खातिर

जब भी देखता हूँ किसी गरीब को हँसते हुए,
यकीनन खुशिओं का ताल्लुक दौलत से नहीं होता

कभी आंसू कभी ख़ुशी बेची हम गरीबों ने बेकसी बेची,
चंद सांसे खरीदने के लिए रोज थोड़ी सी जिन्दगी बेची

Gareebi Shayari


ये गंदगी तो महल वालों ने फैलाई है साहब,
वरना गरीब तो सड़कों से थैलीयाँ तक उठा लेते हैं
वो जिनके हाथ में हर वक्त छाले रहते हैं,
आबाद उन्हीं के दम पर महल वाले रहते हैं
अजीब मिठास है मुझ गरीब के खून में भी,
जिसे भी मौका मिलता है वो पीता जरुर है
Gareebi Shayari

Yeh Gandgi Toh Mahal Walon Ne Failayi Hai Sahab,
Varna Gareeb Toh Sadko Se Thailiyan Tak Uthha Lete Hain.
ये गंदगी तो महल वालों ने फैलाई है साहब,
वरना गरीब तो सड़कों से थैलीयाँ तक उठा लेते हैं


Yeha Gareeb Ko Marne Ki Jaldi Yun Bhi Hai,
Ke Kahin Kafan Mahenga Na Ho Jaye.
यहाँ गरीब को मरने की जल्दी यूँ भी है,
कि कहीं कफ़न महंगा ना हो जाए


Rukhi Roti Ko Bhi Baant Ke Khate Huye Dekha Maine,
Sadak Kinaare Woh Bhikhari Shanshah Nikla.
रुखी रोटी को भी बाँट कर खाते हुये देखा मैंने,
सड़क किनारे वो भिखारी शहंशाह निकला


Sahem UthhTe Hain Kachche Makaan Paani Ke Khauf Se,
Mahalon Ki Aarzoo Yeh Hai Ke Barsaat Tej Ho.
सहम उठते हैं कच्चे मकान पानी के खौफ़ से,
महलों की आरज़ू ये है कि बरसात तेज हो

Gareebi Shayari


ara Si Aahat Pe Jaag Jata Hai Woh Raaton Ko,
Ai Khuda Gareeb Ko Beti De Toh Darwaza Bhi De.
जरा सी आहट पर जाग जाता है वो रातो को,
ऐ खुदा गरीब को बेटी दे तो दरवाज़ा भी दे


Kabhi Aansu Toh Kabhi Khushi Bechi,
Hum Gareebon Ne Bekashi Bechi,
Chand Saansein Khareedne Ke Liye
Roj Thodi Si Zindgi Bechi.


कभी आंसू कभी ख़ुशी बेची
हम गरीबों ने बेकसी बेची,
चंद सांसे खरीदने के लिए
रोज थोड़ी सी जिन्दगी बेची


Tehjeeb Ki Misaal Gareebon Ke Ghar Pe Hai,
Dupatta Fata Hua Hai Magar Unke Sar Pe Hai.
तहजीब की मिसाल गरीबों के घर पे है,
दुपट्टा फटा हुआ है मगर उनके सर पे है

Garibi Shayari Images

Garibi Shayari Images, Garibi Shayari Photo, Garibi Shayari Wallpaper, गरीबी शायरी फोटो, Latest Garibi Shayari Photo, New Garibi Shayari Images, Shayari Wallpaper Garibi

Garibi Shayari Wallpaper
Garibi Shayari Wallpaper
Hum Gareeb Log Hai Kisi Ko Mohabbat Ke Siwa Kya Denge
Ek Mushkurahut Thi Wo Bhi Bewafa Logo Ne Cheen Li
Garibi Shayari Wallpaper Hindi
Garibi Shayari Wallpaper Hindi

Gareebo Ke Bacche Bhi Khana Kha Ske Tyuharo Me
Tbhi To Bhagwaan Khud Bik Jate Hai Bazaro Me

Garibi Shayari Images In Hindi
Garibi Shayari Images In Hindi

Garibo Ki Auqaat Na Pucho To Accha Hai
Enki Koi Jaat Na Pucho To Accha Hai

Latest Garibi Shayari Photo
Latest Garibi Shayari Photo

Toot Jata Hai Greebo Me Wo Rishta Jo Khaash Hota Hai
Hzaro Yaar Bante Hai Jab Paisa Paas Hota Hai

Garibi Shayari Images
Garibi Shayari Images

Kabhi Kabhi Hum Kisi Ke Liae Utna Jaroori
Nhi Hote Jitna HUm Soch Lete Hai

Garibi Shayari Images Hindi
Garibi Shayari Images Hindi

Cheen Leta Hai Har Cheez Mujhse Ae Khuda
Kyaa Too Mujhse Bhi Jyada Gareeb Hai

Garibi Shayari Photo
Garibi Shayari Photo

Pyaar To Aaj BHi Tumse Utna Hi Hai
Bas Tujhe Ehsaas Nhi Aur Humne Jatana Chr Diya

Garibi Shayari Photo Hindi
Garibi Shayari Photo Hindi

Kisi Ko Bhi Apna Bnane Ka Hunar Hai Tum Me
Kash Kisi Ka Bankar Rahne Ka Hunar BHi Hota

Garibi Shayari Photo In Hindi
Garibi Shayari Photo In Hindi

Galti Unki Nhi Kasoor Meri Gareebi Thi Dosto
Hum Apni Auqaaat Bhoolkar Bade Logo Se Dil Lga Baithe

महबूब से, हम आशिक हो गए,
ख़ुदा के रहते काफ़िर हो गए

चलो यूँ ही सही तुमने माना तो सही,
मजबूर कही हम थे ये जाना तो सही
कब कहा हमने की हम बेगुनाह थे
कुछ गुनहगार तुम भी थे ये माना तो सही

हो जाने दो सुबह की अभी रात बाकी है
सुनहरी आँखों में अधूरे सपनो का निशान बाकी है
अभी तो मदहोश है कतरा कतरा, सारा आलम
मुहब्बत की बाँहो में किसी का अरमान बाकी है

जिस जिसका मैं हुआ नहीं,
उसकी जिंदगी सवर गयी
मैं राह देखता रहा जाने किसकी
और इन्ही राहों पे ये जिंदगी गुजर गयी